वास्तु और ज्योतिष

वास्तु-ज्योतिष-Taaraka-blog
vastu and technology taaraka blog

वास्तु, स्थापत्य या निवास का विज्ञान है और प्राचीन भारतीयों द्वारा मंदिर, महल और दूसरी इमारतें बनाने के लिए इसका प्रयोग किया जाता था। लेकिन, क्या आपको पता था कि असल में वास्तु ज्योतिष का एक महत्वपूर्ण अंग है और ये दोनों एक ही सिक्के के दो पहलू हैं? ये दोनों एक-दूसरे के पूरक हैं और साथ ही किसी व्यक्ति के पास ख़ुशनुमा और संतुलित परिवेश और जीवन होने के लिए इनका आपस में तालमेल होना ज़रूरी है। ज्योतिष विस्तृत अध्ययन का विषय है जिसमें कई उप-विषय हैं, और ये सभी स्वाभाविक रूप से 5 तत्वों (पंचभौतिक सिद्धांत के आधार पर), 9 खगोलीय पिंडों और उन राशियों से संबंधित हैं जिनके वो स्वामी हैं और साथ ही वो दिशाओं के भी स्वामी हैं।

जिस तरह ज्योतिष में ग्रहों और समय की स्थिति, और लोगों, उनके स्वभाव, रंगरूप, व्यवहार और उनके जीवन के सभी अन्य पहलुओं पर उनके प्रभाव का अध्ययन किया जाता है, उसी तरह #वास्तु किसी व्यक्ति के घर और उसके रहन-सहन को प्रभावित करता है। यह #वैज्ञानिक सिद्धांतों का प्रयोग करता है और बताता कि किस प्रकार से वायु, जल, आकाश, अग्नि, पृथ्वी जैसे विभिन्न तत्व स्वास्थ्य, संपत्ति, समृद्धि और व्यक्ति के सम्पूर्ण कल्याण में वृद्धि करने के लिए घर में संतुलित परिवेश और ऊर्जा का निर्माण करते हैं।

ज्योतिष में इस्तेमाल किया जाने वाला प्रत्येक ग्रह भी घर के अंदर महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। हर ग्रह घर की किसी निश्चित दिशा का स्वामी होता है और घर का हर एक कोना किसी विशेष तत्व द्वारा नियंत्रित होता है। उदाहरण के लिए, यहाँ एक चार्ट दिया गया है जो बताता है कि कौन सा ग्रह #घर में कौन सी #दिशा या कोने का स्वामी है। घर में कुल 8 दिशाएं होती हैं – उत्तर, उत्तर-पूर्व, उत्तर-पश्चिम, दक्षिण, दक्षिण-पूर्व, दक्षिण-पश्चिम, पूर्व, और पश्चिम।

दिशास्वामी ग्रह
उत्तरबुध
उत्तर-पूर्ववृहस्पति
उत्तर-पश्चिमचंद्रमा
दक्षिणमंगल  
दक्षिण-पूर्वशुक्र
दक्षिण-पश्चिमराहु
पूर्वसूर्य
पश्चिमशनि

जिस तरह घर में ग्रह निश्चित दिशाओं को नियंत्रित करते हैं, उसी तरह घर के नक़्शे के लिए भी कुछ नियम हैं जिसकी वजह से उसमें रहने वाले लोगों को ज्यादा लाभ मिल सकता है। सामान्य तौर पर, घर का प्रत्येक कमरा एक विशेष दिशा में होना चाहिए:

दिशाघर का कमरा
उत्तरलिविंग रूम
उत्तर-पूर्वपूजा घर, लिविंग रूम
उत्तर-पश्चिमकॉमन या गेस्ट बेडरूम, बाथरूम (शौचालय शामिल हो सकता है)  
दक्षिणरसोईघर, स्टोर रूम
दक्षिण-पूर्वरसोईघर
दक्षिण-पश्चिममास्टर बेडरूम, स्टोरेज
पूर्वलिविंग रूम, बाथरूम
पश्चिमबच्चों का बेडरूम, स्टोर रूम, स्टडी रूम

*यह कमरे की गतिविधि पर ग्रहों के स्वामित्व पर आधारित है।

भारत में ज्यादातर घर वास्तु के इन सिद्धांतों के अनुसार बनाये जाते हैं। लेकिन, कोई व्यक्ति ज्योतिष और वास्तु का सबसे ज्यादा फायदा कैसे उठा सकता है? ऐसे बहुत सारे मामले देखने को मिलते हैं जहाँ किसी व्यक्ति की जन्म-कुंडली बहुत अच्छी होती है लेकिन उसके घर के खराब वास्तु के कारण उसके जीवन के एक या एक से ज्यादा पहलुओं में उसकी प्रगति में बाधाएं आती हैं। यहाँ तक कि इसके विपरीत परिस्थिति भी काफी सामान्य है। इसलिए, किसी व्यक्ति के लिए अपनी जन्म-कुंडली दिखाकर यह पता लगाना ज़रूरी है कि उसके लिए कौन सा घर या किस तरह का वास्तु सबसे अच्छा होगा।

अगर आपको लगता है कि वास्तु एक तरह की ‘मान्यता’ या ‘दर्शन’ है तो आप गलत हैं। वास्तु का वैज्ञानिक आधार है। यह सम्पूर्ण विषय पृथ्वी के चक्कर, पृथ्वी के चुंबकीय क्षेत्र, स्थिति और सूरज की किरणों आदि जैसे तथ्यों पर आधारित है। उदाहरण के लिए, सूरज पूर्व में उगता है और इसलिए, सूरज की सुबह की किरणों को महत्व दिया जाता है। जब कोई घर या अपार्टमेंट बनता है तो अलग-अलग ग्रह और खगोलीय पिंड उस घर पर कोई न कोई प्रभाव डालते हैं। इसलिए, यह सुनिश्चित करने के लिए कि सभी ग्रह अपना सही प्रभाव डालें, घर को वास्तु के अनुसार बनाने की ज़रूरत होती है। चीनी मान्यता में यिन और यैंग की तरह, अच्छी और बुरी शक्तियां दोनों मौजूद होती हैं, और समृद्ध घर पाने के लिए उनका संतुलित होना बहुत ज़रूरी है।

स्वस्थ और खुशहाल जीवन पाने के लिए, व्यक्ति की जन्म-कुंडली और उसके घर का वास्तु दोनों अच्छा होना चाहिए और उनका तालमेल होना भी ज़रूरी है। क्या आप जानना चाहते हैं कि आपके लिए क्या अच्छा है तो तारका से पूछें।

ज्योतिष / ग्रह / रत्नों से जुड़ें अपने अनुभवों को हमसे साझा करें। यदि आप अपने लिए सही रत्न की तलाश कर रहे हैं तो ज्योतिषियों की उचित सलाह लें अथवा ताराका ऐप डाउनलोड करें और हमें आपका मार्गदर्शन करने का मौका दें।

Download the Taaraka App

Taaraka on App Store
0 Shares:
Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You May Also Like